इण्डियन ओवरसीज़ बैंक
    इंटरनेट बैंकिंग

  

 


  होम >> ई टोकन  

 
      ई टोकन

        हमें अपने सामूहिक एवं व्यक्तिगत इंटरनेट बैंकिंग ग्राहकों के लिये विश्व की सबसे सुरक्षित तकनीक पीकेआई (लोक कुंजी आधारभूत संरचना) को प्रारम्भ करते हुए अत्यंत गर्व हो रहा है।

अपने बैंकिंग अंतरणों को एक स्तर अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करने के लिये अपने डिजिटल प्रमाण पत्र पंजीबद्ध कराएँ।

        डिजिटल प्रमाण पत्र निम्नलिखित प्रमाणकर्ता अधिकारियों में से किसी से क्रय किया जा सकता है- :

        1. टी सी एस
        2. 2. सुरक्षा पत्र
        3. 3. ई मुद्रा
        4. 4. एन कोड समाधान

       अपने प्रमाण पत्र पंजीकृत करने के चरण :

        1. अपने इंटरनेट बैंकिंग में लॉग इन करें (कॉर्पोरेट/ व्यक्तिगत लॉग इन)
        2. “Accounts” मेनु से “Register your digital certificate” पर क्लिक करें।
        3. 3. प्रमाणित कर्ता अधिकारी का चयन करें( प्रमाणपत्र दाता) एवं अपने प्रमाण पत्र अपलोड करें।

        आपका प्रमाण पत्र हमारे सर्वर में दर्ज हो जाएगा, जिसके उपरांत आपको एक सूचना मेल आपके द्वारा दिये मेल आईडी पर भेज दिया जाएगा।

        आपके डिजिटल प्रमाण पत्र एक उपकरण ई टोकन द्वारा संरक्षित होंगे ।    

     आपको लाभ - :  
 
  • चूँकि खाते में लॉग इन होने के लिये उपयोगकर्ता द्वारा भौतिक ई टोकन की आवश्यकता होगी अतः आपके इंटरनेट बैंकिंग में किसी हैकर द्वारा हैकिंग असंभव होगा।
  • यहाँ तक कि यदि आपका यूज़रनेम या पासवर्ड भी किसी को पता चल जाए तो भी किसी अन्य उपयोगकर्ता द्वारा आपके खाते में बिना ई टोकन के लॉग इन नहीं किया जा सकता।
  • आपके लॉग इन की प्रामाणिकता सुनिश्चित करने के लिये आपके ई टोकन से आपके प्रमाण पत्रों के द्वारा आँकड़े डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित किए जा सकते हैं
 
       


      बैंक को लाभ :  
 
  • इस बात की निश्चिंतता कि आपकी पूंजी आपके द्वारा ही संचालित की जा रही है न कि किसी हैकर द्वारा।.
 
       
    
       

  

  अलादीन ई टोकन प्रतिष्ठापन ड्राईवर:    
 

 
       
     
    हस्ताक्षर सत्यापन कर्ता ::      
 


       ई टोकन के उपयोग के द्वारा अंतरण के दौरान डिजिटल हस्ताक्षरित आँकड़े बैंक से निवेदन कर प्राप्त किया जा सकते हैं

       हस्ताक्षर सत्यापन कर्ता डाउनलोड करने के लिये यहाँ क्लिक करें।

 

 

 
Indian Overseas Bank.2012 All rights reserved